सुनीता जैन " रूपम " को नेपाल से मिला अंतरराष्ट्रीय हिंदी लघुकथा रत्न सम्मान

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 06-JUNE-2024 || अजमेर || जिले की प्रसिद्ध साहित्यकार सुनीता जैन रूपम को एक कार्यक्रम के बीच सम्मानित किया गया है। नेपाल के लुंबिनी में आयोजित किए गए एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से लेखिका सुनीता जैन रूपम को सम्मानित किया गया है। हिंदी भाषा के अमर साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद के सम्मान में आयोजित किए गए अंतरराष्ट्रीय हिंदी लघुकथा प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त होने पर कवियत्री तथा लेखिका सुनीता जैन रूपम को अंतरराष्ट्रीय हिंदी लघु कथा रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया है। सुनीता जैन रूपम प्रदेश की ख्याति प्राप्त लेखिका हैं इसकी सैकड़ों रचनाएं देश विदेश की विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी है तथा साहित्य सृजन के क्षेत्र मे उल्लेखनीय योगदान के लिए दर्जनों सम्मान भी मिल चुके हैं। शब्द प्रतिभा बहुक्षेत्रीय सम्मान फाउन्डेशन नेपाल द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय हिंदी लघुकथा प्रतियोगिता में 132 लेखकों ने अपनी लघुकथा के माध्यम से सहभागिता जनाई थी जिसमें से उत्कृष्ट 17 लेखकों की लघुकथा को प्रथम स्थान प्राप्त होने पर अंतरराष्ट्रीय हिंदी लघु कथा रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया है। ज्ञात हो कि शब्द प्रतिभा बहुक्षेत्रीय सम्मान फाउन्डेशन नेपाल आपने कार्यों की वजह से देश विदेश में ख्याति प्राप्त कर चुकी है। भाषा साहित्य कला और संस्कृति के विकास के लिए नियमित ऑनलाइन ऑफलाइन विभिन्न कार्यक्रम संचालन करती आई है। संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आनन्द गिरि मायालु कहते हैं - " संस्था देश विदेश की विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न आयोजन करती आई है जिसमें देश विदेश से सैंकड़ों प्रतिभाएं सहभागी होती आईं हैं। संस्था की ओर से बर्ष 2025 में विश्व प्रतिभा अंतरराष्ट्रीय सम्मान समारोह का आयोजन लुंबिनी में किया जा रहा है जिसमें किसी भी क्षेत्र की कोई भी प्रतिभा सहभागी हो सकती हैं। आवेदन तथा अधिक जानकारी के लिए संस्थान सचिवालय + 977 9804583611 से जानकारी प्राप्त की जा सकती है। प्रतियोगिता में सफल सभी लघुकथा लेखकों को एक कार्यक्रम बीच ऑनलाइन ई प्रमाण पत्र प्रदान किए गए हैं।।।(।।।

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

23 जुलाई रविवार को जयपुर में होने वाले अग्र महाकुंभ में अजमेर से भारी संख्या में शामिल होंगे अग्रवाल बंधु व मातृशक्ति