ऑस्ट्रेलियाई महिला हृदय रोगी को मित्तल हॉस्पिटल में मिला विश्व स्तरीय उपचार, गंभीर कार्डियक अरेस्ट आने पर टैक्सी ड्राइवर लेकर पहुंचा था मित्तल हॉस्पिटल

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 21-MAR-2024 || अजमेर || ऑस्ट्रेलियाई मूल की टूरिस्ट महिला कैरी ली जोन्स को अजमेर के मित्तल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में विश्व स्तरीय हृदय रोग चिकित्सा निदान मिला। विदेशी टूरिस्ट को गंभीर कार्डियक अरेस्ट आने पर उनका टैक्सी ड्राइवर नारायण बिना समय गंवाए मित्तल हॉस्पिटल के इमरजेंसी वार्ड लेकर पहुंचा था। मित्तल हॉस्पिटल के सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट एंड हार्ट फेलियर स्पेशलिस्ट डॉ विवेक माथुर की देखरेख में रोगी को इमरजेंसी एंजियोप्लास्टी के लिए भर्ती किया गया। डॉ विवेक के अनुसार इमरजेंसी जांच के दौरान ही रोगी को चार बार कार्डियक अरेस्ट आया। रोगी को तुरंत बिजली के झटके और जीवन रक्षक दवाएं दी गईं। रोगी की एंजियोप्लास्टी कर दो दिन के उपरांत उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई। डॉ विवेक माथुर ने बताया कि रोगी कैरी ली जोन्स पहले से ही ह्रदय रोगी हैं उन्हें एक बार पहले भी वर्ष 2012 में हार्ट अटैक हो चुका है। रोगी के हार्ट में स्टेंट लगे हुए हैं। यह दूसरा मौका था जब उन्हें यात्रा के दौरान गंभीर कार्डियक अरेस्ट आया। डॉ विवेक माथुर ने कहा कि मित्तल हॉस्पिटल में टीम भावना से की जा रही रोगी की देखभाल और विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं व संसाधनों की उपलब्धता से रोगी पूरी तरह स्वस्थ और संतुष्ट होकर स्वदेश ईस्ट मेलबॉर्न आस्ट्रेलिया लौट रही है। रोगी के पति ब्रेन विलियम जोन्स ने इस मौके पर मित्तल हॉस्पिटल की सेवाओं की सराहना की । उन्होंने टैक्सी ड्राइवर नारायण को दिल से शुक्रिया कहा कि वह समझ पाया कि उनकी पत्नी को हुई तकलीफ में उसे किस उपयुक्त स्थान पर जल्द से जल्द पहुंचना चाहिए जिससे उनका उपचार एवं जीवन रक्षा सुनिश्चित हो। रोगी कैरी ली जोन्स ने कहा कि वह नहीं समझ पा रही थी कि लगातार सफर करने से वह परेशानी में है अथवा उसका जीवन गंभीर संकट में है। उन्होंने मित्तल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर अजमेर में मिली विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया साथ ही स्वस्थ लौटने की खुशी दर्शाई। टैक्सी ड्राइवर दिल्ली निवासी नारायण ने बताया कि वह 15 मार्च 24 की शाम को दिल्ली से पुष्कर पचकुण्ड रोड स्थित होटल ब्रह्मा होरिजन में टूरिस्ट को छोड़ कर होटल की डोरमेट्री में विश्राम कर रहा था। टूरिस्ट ने फोन कर उन्हें तुरन्त उनके कमरे में बुलाया जहां वे छाती में दर्द की शिकायत करते हुए खुद को बहुत तकलीफ में बता रही थी। टूरिस्ट ने उन्हें किसी हॉस्पिटल तक ले जाने के लिए कहा और वह बिना कोई समय गंवाए उन्हें मित्तल हॉस्पिटल ले आया।।।।।।

Comments

Popular posts from this blog

गुलाम दस्तगीर कुरैशी की पुत्री मनतशा कुरैशी ने 10 वीं बोर्ड में 92.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया नाम रोशन

अजमेर उत्तर के दो ब्लॉकों की जम्बो कार्यकारिणी घोषित

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार