मुस्लिम समाज के सभी पंथ आए एक जाजम पर

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 11-JUNE-2023 || अजमेर || मुस्लिम समाज के विभिन्न पंथों के प्रतिनिधियों द्वारा रविवार को सामूहिक बैठक कर निर्णय लिया कि वे सभी एकजुट होकर समाज के लिए इत्तेहाद साथ काम करेंगे और समाज को आर्थिक राजनीतिक और शैक्षणिक स्तर पर मजबूत करने का काम किया जाएगा मुस्लिम एकता मंच के बैनर तले हुई बैठक में मुस्लिम समाज के विभिन्न पंथों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया सभी ने इस बात पर जोर दिया कि वर्तमान हालातों को ध्यान में रखते हुए सभी को एकजुट होकर अपने धार्मिक मामलों को अलग रखकर सामाजिक एकता का मुजाहेरा करने की जरूरत है मुस्लिम समाज आजादी के बाद से पिछड़ ता चला आ रहा है उसकी मुख्य वजह यह है कि समाज अलग-अलग मज़हबी मामलो को लेकर बिखर गया और अपने सामाजिक मामलों को भूल गया जिसकी वजह से मुस्लिम समाज आर्थिक राजनीतिक और शैक्षणिक स्तर पर निचले पायदान पर पहुंच गया है ऐसे में अब सभी को इस पर गौरव फिक्र करते हुए सामूहिक एकता का परिचय देना होगा ताकि आने वाले समय में मुस्लिम समाज मुख्यधारा का हिस्सा बनकर विकास के पथ पर अग्रसर हो सके वक्ताओं ने कहां की राजनीतिक तौर पर भी समाज में चेतना की आवश्यकता है इसलिए सभी को एकजुट होकर सामूहिक निर्णय लेने होंगे जो कि समाज को मजबूत करेंगे सभी फिरको के प्रतिनिधियों ने कहा कि अब अजमेर से यह तय किया जा रहा है कि मुस्लिम समाज के सभी पंथ के प्रतिनिधि मिलकर समाज मजबूत करने के लिए एकजुट रहेंगे जब भी कहीं जरूरत होगी सभी साथ खड़े रहेंगे साथ और इस बात पर भी जोर दिया गया कि शैक्षणिक दृष्टिकोण से भी चेतना की आवश्यकता है सभी अपने अपने पंथ में इस बात को रखेंगे कि बालिका शिक्षा पर महत्वपूर्ण ध्यान दिया जाए साथ ही उच्च शिक्षा के प्रति नौजवानों सही मार्गदर्शन मिले इसके लिए सभी सामूहिक रूप से एक दूसरे की मदद करेंगे। बैठक में सभी ने इस बात पर भी इत्तेफाक जताया की आने वाले वक्त में समाज के सभी तबके एकजुट होकर समाज के ऊपर हो रहे मामलों को लेकर सामूहिक रूप से पक्ष रखा करेगे। बैठक में अब्दुल बारी चिश्ती, मौलाना शमीमुल हसन, पीर सैय्यद फखर काजमी,,नवाब हिदायत उल्ला, काज़ी मुन्नवर अली, पीर नफीस मियां चिश्ती, पार्षद मोहम्मद शाकिर, अहसान मिर्ज़ा, एडवोकेट हाजी फय्याज उल्ला, मोहम्मद अलीमुद्दीन, अब्दुल मुगनी चिश्ती, सैय्यद अनवर चिश्ती, एतेजाज अहमद, मोइन खान, हुमायू खान, कमरुद्दीन सांखला, अब्दुल नईम खान, आसिफ अली, अली हैदर, असलम खंडेला, इफ्तेखार सिद्दीकी, मोहम्मद इकबाल, हाजी रईस कुरैशी, कय्यूम खान, रिज़वान लजवान, मुबारक खान, उस्मान घड़ियाली, सैय्यद इब्राहिम, सैयद ज़ोहेब हसन, अमजद, जुल्फिकार ज़ीशान चिश्ती, हाशम अली, रुस्तम घोसी, करामात अब्बासी, मौलाना मोहम्मद रफीक, अब्दुल सलाम, एहसान सुल्तानी, अबदुल सलाम, महताब, वसीम सिद्धिकी, बिलाल, आशिक, फजलू रहमान, शरीफ़ मोहम्मद,आदि मौजूद रहे

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

23 जुलाई रविवार को जयपुर में होने वाले अग्र महाकुंभ में अजमेर से भारी संख्या में शामिल होंगे अग्रवाल बंधु व मातृशक्ति