केन्द्रीय विद्यालय नं. 1 अजमेरमें जी-20, एनईपी-2020 एवं एफएलएन विषयोंपर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 13-JUNE-2023 || अजमेर || केन्द्रीय विदयालय क्रमांक 1 अजमेर एवं जिला परियोजना समन्वयक, समग्र शिक्षा अजमेर के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को जी - 20, एनईपी - 2020 एवं एफएलएन विषयों पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन अजयपाल हॉल, सीआरपीएफ जी.सी. -1 अजमेर में किया गया। इस कार्यशाला के मुख्य अतिथि मोहन प्रकाश, सीओ.सीआरपीएफ जी. सी. 1 अजमेर रहे। केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक -1 अजमेर के प्राचार्य डॉ. आर. के. मीना ने अपने उद्बोधन में एनईप- 2020 को शिक्षा में आमूलचूल परिवर्तनकारी बताते हुए कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला और कार्यशाला की महत्ता बताई। मुख्य अतिथि श्री मोहन प्रकाश ने शिक्षक को 'कलम का सिपाही', 'नयी पीढ़ी का सर्जक' आदि विभूषणों से अलंकृत करते हुए उन्हें एनईपी-2020 के अनुसार अपने आप को अपडेट करने एवं हमेशा अपडेट रहने का आह्वान किया। विद्यालय की पीजीटी अंग्रेजी श्रीमती रक्षा सोनी ने पीपीटी के माध्यम से जी-20 की पूर्ण रूपरेखा प्रस्तुत कर भारत की अध्यक्षता में हो रही बैठकों का मोटो प्रस्तुत किया। कार्यशाला के मुख्य वक्ता क्षेत्रीय शिक्षण संस्थान अजमेर के प्राचार्य प्रोफे. सतवीर शर्मा ने जी-20 व राष्ट्रीय शिक्षा पद्धति -2020 की बारीकियों को विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से विस्तार से समझाया। प्रोफे. शर्मा ने नये शैक्षणिक फॉर्मूले 5+3+3+4 के प्रत्येक चरण की आवश्यकता, उपयोगिता एवं प्रयोग में शिक्षक, अभिभावक, विद्यालय एवं विद्यार्थी की भूमिका का उल्लेख किया। अन्य वक्ता जीजीसीए के सहायक आचार्य (हिन्दी) जे. के. त्रिपाठी ने फाउंडेशन स्टेज पर बच्चों के लिए बहुभाषिता की उपयोगिता एवं आवश्यकता पर प्रकाश डाला। श्री त्रिपाठी ने भाषा के साथ-साथ गणित विषय की दशमलव पद्धति, कोडिंग - डीकोडिंग आदि विभिन्न बिन्दुओं को बड़ी रोचक शैली में समझाया। केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक 2 जयपुर की मुख्य अध्यापिका श्रीमती मधु रितु ने प्राथमिक शिक्षण में एफएलएन की उपयोगिता एवं मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। श्रीमती मधु रितु ने एनसीईआरटी के दीक्षा, निष्ठा आदि विभिन्न प्रशिक्षण पॉर्टलों की चर्चा की। केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक -3 जयपुर के मुख्याध्यापक सी. पी. सोनगरा ने एफ. एल. एन. की विभिन्न गतिविधियों की चर्चा करते हुए केन्द्रीय विद्यालयय संगठन में आयोजित होने वाली विभिन्न प्रशिक्षण कार्यशालाओं का उल्लेख किया एवं इनकी विद्यार्थियों के 360 डिग्री संपूर्ण विकास में महत्ता पर प्रकाश डाला। राजस्थान शिक्षा विभाग अजमेर के एडीपीसी अजय कुमार गुप्ता, सहायक निदेशक बी. सी. मंडावरिया, सहायक परियोजना समन्यवयक नवीन सागर सोनी, कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती संगीता चंडोक, डाइट मसूदा के उपप्राचार्य गोवर्धन लाल मीना, विभिन्न ब्लॉक से सीबीईओ, एसीबीईओ, आर.पी, विभिन्न राजकीय एवं निजि विद्यालयों के प्रधानाचार्य, केन्द्रीय विद्यालय नसीराबाद प्राचार्य आर.सी. मीना, अजमेर जिले में स्थित सभी केन्द्रीय विद्यालयों के शिक्षक सहित लगभग 120 प्रतिभागियों ने इस कार्यशाला में प्रतिभागिता की। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन राजस्थान शिक्षा विभाग अजमेर के एडीपीसी अजय कुमार गुप्ता द्वारा किया गया। कार्यक्रम का समन्वय के.वि.क्र.-1 अजमेर की उपप्राचार्य श्रीमती रोमा सांखला द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन रक्षा सोनी एवं स्वपन शर्मा द्वारा किया गया।

Comments

Popular posts from this blog

गुलाम दस्तगीर कुरैशी की पुत्री मनतशा कुरैशी ने 10 वीं बोर्ड में 92.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया नाम रोशन

अजमेर उत्तर के दो ब्लॉकों की जम्बो कार्यकारिणी घोषित

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार