बार हॉल में 14 अप्रैल को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती को लेकर एक बैठक आयोजित की गई

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 10-APR-2023 || अजमेर || अजमेर सेशन कोर्ट के बार हॉल में 14 अप्रैल को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती को लेकर एक बैठक आयोजित की गई जिसमें अजमेर बार द्वारा 13 अप्रैल को बार हॉल में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 132 वी जयंती मनाने को लेकर विचार विमर्श किए गए | जयंती को किस तरीके से अच्छे से अच्छे तरीके से मनाया जाए इन सभी बिंदुओं पर चर्चा हुई | एडवोकेट सत्यनारायण सोलंकी ने बताया की 13 अप्रैल को बाबा साहब की जयंती बार हॉल में मनाई जाएगी | कार्यक्रम का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश और अजमेर बार अध्यक्ष द्वारा बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर किया जाएगा, उसके पश्चात 11 पौंड का केक काटा जाएगा व नवनिर्वाचित बार कार्यकारिणी का सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा | 14 अप्रैल को सुबह 9 बजे अंबेडकर सर्किल पर शरबत की व्यवस्था रहेगी उसके पश्चात 21 पोंड का केक बाबा साहब की प्रतिभा के सामने काटा जायेगा बैठक के पश्चात अजमेर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र राठौड़ ने बार कॉन्फ्रेंस की आयोजित की, उसके पश्चात सभी अधिवक्ता अजमेर बार अध्यक्ष नरेंद्र राठौड़ के नेतृत्व में कलेक्टर साहब को ज्ञापन देने गए | ज्ञापन में रोडवेज बस स्टैंड स्थित अंबेडकर सर्किल व अजमेर क्लब स्थित महात्मा ज्योतिबा फुले सर्किल जो की नगर निगम अजमेर अजमेर विकास प्राधिकरण के द्वारा दोनों सर्किल को गोद लिया गया है उसके बावजूद भी इन सर्किल की यह दशा है इन दोनों डिपार्टमेंट के अधिकारी एक दूसरे पर टालमटोल करते रहते हैं और सबसे बड़ी विडंबना की बात है की संविधान निर्माता जिसने पूरे देश का संविधान लिखा हो उस सविधान निर्माता के सर्किल की ऐसी दुर्दशा हो रही है अधिवक्ताओं ने मांग रखी है कि अंबेडकर सर्किल मैं बरसों से बंद पड़े फव्वारे चालु किए जाय और रोज रोज नियमत रूप से चालू हो जंगली पेड़ पौधे लगे हुए हैं उनको काटा जाय सर्किल में शराबियों व असामाजिक तत्व द्वारा बाबा साहेब की मूर्ति के साथ कई बार छेड़छाड़ किया जाता है तो बाबा साहब के सर्किल के नियमित रूप से गश्त हो सर्किल पर कोई बैनर पोस्टर नही लगाया जाय जो लगाए उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाय नही तो अधिवक्ताओ द्वारा कोर्ट में कार्येवाई की जायेगी सर्किल की सप्ताह में दो बार सफाई हो सर्किल के चारों ओर व सर्किल में जो पत्थर लगे हैं वह टूटे हुए हैं उनको बदला जाए वह लाइटों के तार खुले हुए हैं कभी भी कोई घटना हो सकती है अंबेडकर सर्किल अजमेर के एंट्रेंस पर अगर बाहर से आए व्यक्ति अजमेर शहर में प्रवेश करते समय वह सर्किल की इमेज अपने दिमाग में यह लेकर जाएगा तो उसी से अजमेर शहर की साफ सफाई का अंदाजा भी लगा सकता हे | ज्ञापन देने वालो मे अजमेर बार अध्यक्ष नरेंद्र सिंह राठौड़, उपाध्यक्ष दिनेश राठौड़, सचिव राजेश यादव, सह सचिव श्याम कृष्ण पारीक, खेल सचिव टीकम टॉक, एडवोकेट रविंद्र चौहान सिवासिया, सत्यनारायण सोलंकी, भवानी मीणा, छीतरमल टेपण, ललित कुंपावत, प्रेम कुमार तुनवाल, विजय चंदेल, योगेश कुमार, मानव राठौड़, पवन कुमार, विजय सिंह, बिना सुकरिया, अजीत सिंह, अनिल नरवाल, गोपाल नोगिया, घनश्याम सिंह शक्तावत, मोहित जिंदल, भगवानदास बत्रा, शंकर दिल्लीवाल, चेतन प्रकाश, चंदन सिंह, मनीष तवर, शिवप्रसाद, कुलदीप, योगेश दायमा, केदारनाथ डोडिया, अशोक चंदेल, ललित कुमार चौहान, विकास कनौजिया, सुंदरलाल जाटावास, संतोष सांवरिया, प्रदीप कुमार तुंगरिया आदि कई अधिवक्ता उपस्थित रहे

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

पूज्य सिंधी पंचायत और भारतीय सिंधु सभा के संयुक्त तत्वाधान में बाल संस्कार शिविर का आयोजन