राजगढ़ धाम पर 20वीं वर्षगाँठ की तैयारियाँ जोरो पर

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 22-DEC-2022 || नसीराबाद || नसीराबाद भैरव धाम राजगढ़ पर सर्वधर्म मनोकामनापूर्ण स्तम्भ की 20वीं वर्षगाँठ का महोत्सव बडे ही धूम धाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। धाम के प्रवक्ता अविनाश सेन ने बताया कि धाम पर आयोजित होने वाले 4 बडे वार्षिक पर्वो में सर्वधर्म मनोकामनापूर्ण स्तम्भ की वर्षगाँठ का महोत्सव सबसे अधिक महत्वपूर्ण एवं मुख्य पर्व होता है जिस कारण से इस दिन भारी मात्रा में श्रद्धालुओ की संख्या होती रहती है। इस दिन जो भक्त सच्ची आस्था ओर विश्वास के साथ आता है व सर्वधर्म मनोकामनापूर्ण स्तम्भ की विशेष परिक्रमा कर चमत्कारी चिमटी प्राप्त करता है उसके सभी मनोरथ पूर्ण होते है। वर्षगाँठ के विशालकाय आयोजन को लेकर मन्दिर कमेटी व भैरव भक्त मण्डल ने तैयारियाँ जोरो पर है। भैरव धाम राजगढ़ दुनिया का एकमात्र ऐसा धार्मिक स्थल की जहॉ किसी भी प्रकार का रुपया-पैसा, चन्दा-चढावा, दान गुप्तदान, भेट, नारियल, माला, अगरबत्ती व पूजन सामग्री आदि स्वीकार नही किया जाता है । महाराज द्वारा आने वाले श्रद्धालुओ को अन्धविश्वास से दूर किया जाता है। इस महोत्सव में देश-प्रदेश से हजारों झण्डे आऐंगे। मनोकामनापूर्ण स्तम्भ की विशेशता यह है कि आज स्तम्भ की मात्र एक परिक्रमा लगाने से श्रद्धालुओं के सारे रोग कश्ट दूर हो जाते हैं। बाहर से आए हुए श्रद्धालुओं के लिए सर्दी के लिए भी व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन ने भी श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए धाम पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए विशेश माकुल इंतजामात जा रहे हैं। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी चिकित्सा विभाग व पुलिस प्रशासन द्वारा भी सुरक्षा व कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए आवश्यक व्यवस्थाये की जायेगी। धाम पर बढती भीड को देखते हुए वाहनों के लिए पार्किंग की विशेश व्यवस्था की गई है। 20वीं वर्षगाँठ की तैयारियो को लेकर हुई बैठक : धाम पर मुख्य उपासक चम्पालाल महाराज के सान्निध्य में राजगढ़ मसाणिया भैरव भक्त मण्डल की बैठक सम्पन्न हुई। महाराज ने बैठक में सर्वधर्म मनोकामनापूर्ण स्तम्भ की 20वं वर्षगाँठ की तैयारियों का जायजा लिया। महिलाओं व पुरूषों के लिए अलग-अलग दर्शन करने की व्यवस्था के लिए अलग-अलग बेरिकेटिंगों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। मनोकामनापूर्णस्तम्भ की परिक्रमा व विशेष चमत्कारी चिमटी वितरण करने के लिए विशेष व्यवस्था की जा रही है। महाराज ने भगदड़ से बचने के लिए पार्किंग तथा महिला व पुरूषों की अलग-अलग बेरिकेटिंग व्यवस्था पर ज्यादा ध्यान देने के लिए कहा।

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

पूज्य सिंधी पंचायत और भारतीय सिंधु सभा के संयुक्त तत्वाधान में बाल संस्कार शिविर का आयोजन