राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर और अजमेर लेखिका मंच के संयुक्त तत्वावधान मे राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 01-NOV-2022 || अजमेर || राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर और अजमेर लेखिका मंच एवं सामाजिक सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में एक दिवसीय भव्य राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 1 नवंबर को हुआ। जिसका विषय प्रभा खेतान का कथा संसार था। दो सत्रों में संगोष्ठी का होटल रॉयल मिलोंज जयपुर रोड अजमेर के सभाकक्ष में संपन्न हुआ । प्रथम सत्र की मुख्य अतिथि अजमेर की उप अधीक्षक श्रीमती छवि शर्मा थी तथा कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रसिद्ध कवि श्री रास बिहारी गौड़ थे। कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन एवम डॉ शारदा देवड़ा व डॉ छाया शर्मा द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से किया गया।। संगोष्ठी का श्रीगणेश अजमेर लेखिका मंच की संयोजिका डॉ मधु खंडेलवाल द्वारा संगोष्ठी के कार्यक्रम की रूपरेखा एवं अतिथि परिचय से हुआ ।पुष्पा शर्मा और काजल खत्री द्वारा मंच के गीत को स्वर लहरी में पिरोया गया । कार्यक्रम में अजमेर लेखिका मंच के प्रतिवेदन का विमोचन एवं अजमेर लेखिका मंच की संयोजिका डॉ मधु खंडेलवाल की पुस्तक( जो कि राजस्थान साहित्य अकादमी के सहयोग से ही प्रकाशित है) पुस्तक संवेदनाओं के सागर का विमोचन भी किया गया ।पुस्तक के विमोचन के उपरांत पुस्तक की संक्षिप्त समीक्षा देश के जाने-माने साहित्यकार श्रीमान रासबिहारी गौड़ ने की। एवं प्रतिवेदन का संक्षिप्त परिचय भारती प्रकाश द्वारा दिया गया । इस बार का लेखिका मंच का एक्सीलेंट अवार्ड श्रीमती पायल गुप्ता के नाम रहा।इस मौके पर खचाखच भरे हुए सभागार में श्रीमती कुंदन सिंह हिंदी की विभागाध्यक्षा मेयो कॉलेज अजमेर ने की नोट स्पीकर के रूप में प्रभा खेतान का कथा संसार विषय पर विस्तृत रूप से चर्चा की । तत्पश्चात मुख्य अतिथि छवि शर्मा ने अजमेर लेखिका मंच के रचनाकारों की प्रशंसा की तथा एक गजल सुना कर वाहवाही लूटी । कार्यक्रम संयोजक डॉ बसंत सिंह सोलंकी ने लेखिका मंच के कार्य को ऊर्जा वर्धक बताते हुए अकादमी द्वारा पुस्तकों को नि:शुल्क प्रकाशन की जानकारी दी । द्वितीय सत्र की अध्यक्षता डॉ कृष्णा कांत पाठक शासन सचिव (वित्त विभाग),दर्शन शास्त्री एवं साहित्यकार ने की । कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री कृष्णा कांत पाठक साहित्य में एक ऐसा पुरोधा और लब्ध प्रतिष्ठित नाम हैं जिन्हें वर्ष 2021 में सूरजमल मेहता साहित्य पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया है। पाठक जी ने अजमेर लेखिका मंच की सभी रचनाकारों का तहे दिल से इस बात के लिए साधुवाद किया कि वह रचनाओं को और रचनाकारों के लिए एक संसार गढ़ रही हैं । पाठक जी ने बताया कि अजमेर में महिलाओं द्वारा किए जा रही साहित्य की विभिन्न उपलब्धियों एवं सामाजिक सरोकारों से जोड़ते हुए कार्यों को निष्पादित करने के लिए वह हमेशा ही सहयोग देने के लिए तत्पर हैं । कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि श्री शिव शंकर जी भाभड़ा थे । सृ.पृ.चौ. राजकीय महाविद्यालय, अजमेर की सहायक आचार्य डॉ मोनिका मिश्रा एवं डॉ मोनिका शर्मा द्वारा प्रभा खेतान के कथा संसार विषय पर पत्र वाचन के साथ सत्र की शुरुआत हुई। इस पत्र वाचन में विश्व प्रसिद्ध रचनाकार प्रभा खेतान की जिंदगी से जुड़े कुछ अद्भुत और साहित्य को समर्पित कालजई रचनाओं के बारे में जानकारी सांझा हुई।कार्यक्रम में साहित्य को समर्पित पूर्व में घोषित डॉ विवेक माथुर द्वारा अपनी माता की स्मृति में डॉक्टर अरुणा माथुर कलम अवॉर्ड के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया ।। एक नया सवेरा विषय पर लिखी गई रचनाओं में ग्रामीण और शहरी स्कूल एवम अजमेर व अन्य शहर के रचनाकारों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया । जिसमें मान्यवर्धन सिंह राठौड़ मयूर स्कूल प्रथमं, कुमारी सिमरन चौरसियावास राजस्थान उच्च माध्यमिक विद्यालय द्वितीय , चैतन्य मित्तल माहेश्वरी पब्लिक स्कूल तृतीय एवं सुश्री शबनम को सांत्वना पुरस्कार प्राप्त हुआ।। इसी के साथ सीनियर वर्ग में श्री तस्दीक अहमद खान अजमेर को प्रथम, नंदिता रवि चौहान को द्वितीय, भंवर सिंह देवगांव को तृतीय एवं अभिलाषा माथुर को सांत्वना पुरस्कार से सम्मानित किया गया।। कार्यक्रम का सफल संचालन श्रीमती कविता अग्रवाल एवं डॉ विनीता अशित जैन द्वारा किया गया।। इसके साथ ही सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं विजेताओं को नकद पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम में विद्यार्थी अपने विद्यालय के गणवेश में अभिभावकों के साथ उपस्थित रहे ।।अजमेर लेखिका मंच एवं सामाजिक सेवा संस्थान की सभी रचनाकार एवं अजमेर शहर एवं अन्य शहरों से पधारे सभी प्रतिष्ठित रचनाकार कार्यक्रम में अंत तक बने रहे।। श्री उमेश कुमार चौरसिया एवं कमला गोकलानी ने निर्णायक की भूमिका बखूबी निभाई।। कार्यक्रम के अंत में मंजु माथुर द्वारा सभी का आभार प्रकट किया गया।

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

23 जुलाई रविवार को जयपुर में होने वाले अग्र महाकुंभ में अजमेर से भारी संख्या में शामिल होंगे अग्रवाल बंधु व मातृशक्ति