- कन्हैयालाल के परिजनों को त्वरित न्याय और मुआवजा दिया जाए: आम आदमी पार्टी

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 6-JULY-2022 || अजमेर || आज आम आदमी पार्टी द्वारा कन्हैयालाल हत्याकांड के संबंध में एक महत्वपूर्ण प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसे त्रिवेंद्र पाठक ने संबोधित किया। त्रिवेंद्र पाठक ने प्रेस को संबोधित करते हुए बताया की उदयपुर में एक ऐसा जघन्य अपराध हुआ है जिसमें महज अपना विचार और मत व्यक्त करने वाले कन्हैयालाल को मौत के घाट उतार दिया गया है। यह घटना प्रजातंत्र और संविधान में प्रदत्त अभिव्यक्ति की आजादी का धर्म के नाम पर खुला उल्लंघन है। आम आदमी पार्टी इस दर्दनाक अपराध के दोषियों को तत्काल कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करती है। उदयपुर के अपराध को अंजाम देने वालों के साथ बीजेपी के नेताओं से सम्बंध उजागर हो रहे हैं। बीजेपी राजस्थान के एक बड़े नेता गुलाबचंद कटारिया सहित अनेक पदाधिकारियों के साथ अपराधियों की तस्वीरें मीडिया में प्रसारित हुई हैं। लिहाजा बीजेपी के पदाधिकारियों को भी जांच के दायरे में लिया जाए। इस बात की गहरी जांच करनी चाहिए कि अपराध के पीछे भरतीय जनता पार्टी का हाथ तो नहीं क्योंकि इस घटना का धार्मिक लाभ लेने के प्रयास बीजेपी और उसकी विचारधारा से जुड़े संगठनों ने शुरू कर दिए है। यह महज संयोग नहीं हो सकता कि अपराध करने वाला रियाज बीजेपी का पुराना कार्यकर्ता था। उसका सम्पर्क जिला और प्रदेश स्तर के नेताओं से था। त्रिवेंद्र पाठक ने बताया की आज ये बात किसी से छुपी नहीं है कि धार्मिक भेदभाव और धर्म के आधार पर घृणा और उससे वोटों की राजनीति कौन कर रहा है। संवैधानिक अधिकारों को ताक पर रख कर धर्म के आधार पर राजनीति करने वाले और उसके आधार पर खून खराबा देश की एकता अखंडता और विकास के लिए बड़ा खतरा है। आम आदमी पार्टी ऐसे असामाजिक तत्वों की भर्त्सना करती है। साथ ही प्रदेश की जनता से समाज में आपसी भाईचारा बनाये रखने की अपील करती है। अपराध अनुसंधान का स्थापित नियम है कि अपराध वही व्यक्ति करता या कराता है जिसको उस अपराध की घटना से किसी भी तरह का फायदा मिल रहा हो। सभी समझ सकते हैं कि हिन्दू- मुसलमान कौन करता है और क्यों करता है। प्रदेश की जनता को ऐसे संगठनों से सावधान रहने की जरूरत है। आम आदमी पार्टी यह भी मांग करती है कि घटना के दोषी लोगों को जल्द से जल्द कड़ी से कड़ी सजा के साथ ही मृतक कन्हैया के परिवार की आर्थिक मदद व पुलिस सुरक्षा भी दी जानी चाहिए। राज्य सरकार उन चश्मदीद गवाहों की सुरक्षा का भी इंतजाम करे जिन्होंने बीच बचाव किया और अपराधियों को पकड़ने में मदद की। आप राजस्थान के उदयपुर की घटना को अंजाम देने वाला एक दोषी पाकिस्तान तक हो कर आ गया। किसी को कानोंकान खबर तक नहीं हुई। हमारे देश और प्रदेश की गुप्तचर व्यवस्था को मजबूत करने की जरूरत है।

Comments

Popular posts from this blog

गुलाम दस्तगीर कुरैशी की पुत्री मनतशा कुरैशी ने 10 वीं बोर्ड में 92.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया नाम रोशन

अजमेर उत्तर के दो ब्लॉकों की जम्बो कार्यकारिणी घोषित

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार