आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल द्वारा अग्निपथ योजना का विरोध

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 17-JUNE-2022 || अजमेर || आज आम आदमी पार्टी द्वारा सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना के संबंध में अजमेर संभाग में एक महत्वपूर्ण प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। प्रेस कांफ्रेंस में कीर्ति पाठक ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना यानि ठेके पर सेना योजना बेरोजगार युवाओं के साथ एक क्रूर मजाक है। इस योजना के अनुसार सरकार सेना में दो फाड़ करने को उत्सुक दीख पड़ रही है - एक दीर्घकालिक अफ़सरशाही और दूसरा चार वर्षीय संविदा सैनिक। वित्तीय पहलू - अफ़सरों की पेन्शन पूर्ववत चलती रहेगी और संविदा युवा सैनिक पेन्शन के लाभ से वंचित रहेंगे। सेना की कार्य पद्यति की चर्चा करते हुए कीर्ति पाठक ने बताया कि एक आम सैनिक का प्रशिक्षण काल छह माह का होता है और उसे प्रति वर्ष दो माह का अवकाश मिलता है। नये सैनिक को तीन वर्ष से पूर्व बॉर्डर पर नहीं भेजा जाता| सो चार वर्ष में दो माह प्रति वर्ष के हिसाब से आठ माह का अवकाश + छह माह का प्रशिक्षण + तीन साल का बॉर्डर पोस्टिंग पूर्व प्रतीक्षा काल कुल जमा चार साल दो माह के संविदा सैनिक सेना पर बोझ मात्र रहेंगे जो अपने सपनों को बलि चढ़ते और अपनी देशभक्ति और अपने देश के लिए कुछ करने के जज़्बे को तार तार होते हुए देखने को मजबूर होंगे | भाजपा शासित राज्यों में इन अग्नि वीरों की पुलिस में भर्ती की घोषणा पर प्रहार करते हुए कीर्ति पाठक ने बताया कि एक्स सर्विसमैन के लिए पुलिस में भर्ती का प्रावधान तो पहले से ही है और सरकार सिर्फ 25 % संविदा सैनिकों की पुनः नौकरी की बात कर रही है तो बाकी 75 % के भविष्य के लिए सरकार की क्या योजना है ? जे सी ओ रैंक के नीचे के सैनिकों को रिटायरमेंट के बाद सिर्फ सुरक्षा गार्ड की नौकरी मिलती है जिस में कागज़ों में तो वेतन 20 से 25 हज़ार होता है परन्तु सच्चाई में ये वेतन सिर्फ 8 से 10 हज़ार मात्र होता है और ये सच्चाई सब जानते हैं | बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा दी जा रही इस दलील कि 11 लाख 71 हज़ार रूपये एक 25 -26 साल के युवा के पास होगा पर कीर्ति पाठक ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को चैलेंज दिया कि घर तो बहुत दूर की बात है वे ADA एप्रूव्ड 100 गज का प्लाट इतने पैसों में खरीद कर बता दें | आँकड़ों के खेल का खुलासा करते हुए कीर्ति पाठक ने बताया कि उक्त योजना सिर्फ़ जनता की आँखों में धूल झोंकने के लिए बनाई गयी है जिस से चुनाव तक बेरोज़गारी के आँकड़ों को कम कर के दिखाया जा सके। मोदी सरकार को चेताते हुए उन्होंने कहा कि जिस युवा के वोट से आज सत्ता की कुर्सी पर काबिज़ वर्तमान मोहम्मद बिन तुग़लक़ द्वारा युवाओं पर ज़ुल्म किया जा रहा है वो दिन दूर नहीं जब किसान आंदोलन की तरह सरकार को इस ठेका योजना को रोल बैक करना पड़ेगा और फिर से मुंह की खानी पड़ेगी |

Comments

Popular posts from this blog

क़ुरैश कॉन्फ्रेंस रजिस्टर्ड क़ुरैश समाज भारत की अखिल भारतीय संस्था द्वारा जोधपुर में अतिरिक्त जिला कलेक्टर दीप्ति शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर सूरसागर में आये दिन होने वाले सम्प्रदायिक दंगों से हमेशा के लिये राहत दिलाने की मांग की गई है।

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न