"अग्निपथ" देश के नौजवानों के सपनों को अग्नि में झोंकने वाली योजना है,जिसे अविलंब वापस लिया जाए

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 24-JUNE-2022 || अजमेर || अखिल भारतीय बेरोजगार मजदूर किसान संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज दुबे एवम राष्ट्रीय महासचिव शैलेन्द्र अग्रवाल ने केन्द्र की भाजपा सरकार के द्वारा लाई गई सेना में संविदा पर भर्ती की योजना का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि "अग्निपथ" देश के नौजवानों के सपनों को अग्नि में झोंकने वाली योजना है।जिसे केंद्र सरकार द्वारा अविलंब वापस लिया जाए। मनोज दुबे व शैलेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि सेना में ठेका प्रथा शुरू कर देश के युवाओं को झुनझुना पकड़ाना मोदी सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा। आज देश के करोड़ो युवा बेरोजगार हैं और सिर्फ रोजगार मांग रहे हैं इसलिए उन्हें सड़कों पर बेरहमी से पीटा जा रहा है, गिरफ्तार किया जा रहा है और उनके भविष्य के साथ बड़ा खिलवाड़ किया जा रहा है। मोदी सरकार के द्वारा किसान विरोधी बिल, नोटबन्दी और अपने तमाम ऐसे फिजूल के तानाशाही फरमान की जैसे ही अग्निपथ योजना को भी थोपा जा रहा है। बार-बार नौकरी की झूठी उम्मीद दे कर प्रधानमंत्री ने देश के युवाओं को बेरोज़गारी के "अग्निपथ" पर चलने के लिए मजबूर किया है। मोदी जी व भाजपा नेताओं ने चुनाव के समय प्रति वर्ष 2 करोड़ बेरोजगार युवाओं को नौकरी देने की बात की थी उस हिसाब से उन्हें 8 सालों में 16 करोड़ नौकरियां देनी थीं मगर युवाओं को मिला सिर्फ़ पकोड़े तलने का ज्ञान। बेरोजगार युवा अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहा है। देश के इस हालत की ज़िम्मेदार केवल मोदी सरकार है। मनोज दुबे व शैलेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि जिस महान सेना की वीर गाथाएँ कह सकने में समूचा शब्दकोश असमर्थ हो, जिनके पराक्रम का डंका समस्त विश्व में गुंजायमान हो, उस भारतीय सैनिक को किसी राजनीतिक दफ़्तर की ‘चौकीदारी’ करने का न्यौता देना बेहद शर्मनाक है।भारतीय सेना माँ भारती की सेवा का माध्यम है, महज एक ‘नौकरी’ नहीं। एक तरफ भाजपा दावा कर रही है की अग्निपथ से युवाओं को रोजगार मिलेगा उनका भविष्य उज्ज्वल होगा, वही उसी अग्निपथ योजना के अग्निवीर को भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय भाजपा के कार्यालय में सिक्योरिटी गार्ड के पद पर रखने की बात कर रहे है ये युवाओं और सेना दोनों का अपमान है। मनोज दुबे व शैलेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि भाजपा सोचती है कि लोग फ़ौज में नौकरी करने जाते हैं, दरअसल युवा देश-प्रेम के जज़्बे से सेना में जाते हैं, लेकिन ये वो क्या जानें जिन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन तक में हिस्सा ही न लिया हो। भाजपा सरकार देश को ‘जय जवान जय किसान’ से ‘रुष्ट जवान रुष्ट किसान’ के बुरे हालातों में ले आई है। केंद्र की मोदी सरकार की हट की वजह से आज देश का छात्र-नौजवान सड़कों पर है। वायदा सालाना दो करोड़ रोज़गार का था तो अब चार साल वाला अग्निपथ क्यूँ ? मोदी सरकार को आने वाले समय में इसका जवाब देना पड़ेगा और इस अग्निपथ योजना को भी वापस लेना पड़ेगा।

Comments

Popular posts from this blog

क़ुरैश कॉन्फ्रेंस रजिस्टर्ड क़ुरैश समाज भारत की अखिल भारतीय संस्था द्वारा जोधपुर में अतिरिक्त जिला कलेक्टर दीप्ति शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर सूरसागर में आये दिन होने वाले सम्प्रदायिक दंगों से हमेशा के लिये राहत दिलाने की मांग की गई है।

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न