यूक्रेन में भारतीय छात्रों की मौत दुखद - राठौड़, प्रधानमंत्री मोदी यूक्रेन से राजस्थानी छात्रों एवं अन्य की सकुशल वापसी की पुख्ता व्यवस्था करें -राठौड़

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 03-MAR-2022 || अजमेर || हीरालाल नील---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- राजस्थान पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष श्री धर्मेंद्र सिंह राठौड़ ने यूक्रेन में भारतीय छात्रों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर यूक्रेन की परिस्थितियों में राजस्थान के छात्र छात्राओं एवं अन्य को सकुशल वापसी के लिए पुख्ता व्यवस्था करने की मांग की हैं। निगम अध्यक्ष राठौड़ ने प्रेस वक्तव्य जारी कर बताया कि भारत सरकार को उच्चतम स्तर पर वार्ता कर सभी भारतीयों को यूक्रेन से सुरक्षित बाहर निकालने निकाला जाए एवं यूक्रेन की परिस्थितियों में भारतीयों को अपने हाल पर नहीं छोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की कथनी और करनी में फर्क है ! उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा की भ्रष्ट मोदी सरकार ने 2016 में देश के करोड़ों लोगों को बैंक के आगे लाइन में मरने के लिए छोड़ दिया , 2020 में लाखों मजदूरों को सड़क पर मरने के लिए छोड़ दिया 2021 में लाखों लोगों को अस्पताल के बाहर बिना अक्सीजन दवाई के मरने के लिए छोड़ दिया अब 2022 में हजारों छात्र-छात्राओं को यूक्रेन में मरने के लिए छोड़ दिया है ,जबकि 32 साल पहले प्रधानमंत्री वीपी सिंह एवं विदेश मंत्री आई के गुजराल ने 1990 के खाड़ी युद्ध के समय एक लाख 70 हजार से ज्यादा भारतीयों को महज 2 महीने में मुफत में एयरलिफ्ट किया था। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि केंद्र सरकार आतंकवादियों को छोड़ने के लिए विदेश जा सकती है तो भारतीयों को सकुशल लाने के लिए यूक्रेन क्यों नहीं जा सकती। निगम अध्यक्ष राठौड़ ने कहा कि राजस्थान के संवेदनशील मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री एवं विदेश मंत्रालय से नियमित संपर्क कर राजस्थान के छात्रों एवं अन्य को सकुशल वापसी के लिए अनुरोध किया है! मुख्यमंत्री ने सभी खर्चे राजस्थान सरकार द्वारा करने की घोषणा कर राहत प्रदान करी है ।

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

पूज्य सिंधी पंचायत और भारतीय सिंधु सभा के संयुक्त तत्वाधान में बाल संस्कार शिविर का आयोजन