राजस्थान के बजट में की गयी विभिन्न घोषणाओं व अजमेर जिले को दी गयी अनेक सौगातों के लिए मुख्यमंत्री का आभार- शैलेन्द्र अग्रवाल

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 24-FEB-2022 || अजमेर || हीरालाल नील------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- राजस्थान प्रदेश कांग्रेस सेवादल के प्रदेश मुख्य प्रशिक्षक पूर्व पार्षद शैलेन्द्र अग्रवाल ने राजस्थान के लोकप्रिय मुख्यमंत्री जननायक अशोक गहलोत द्वारा बुधवार को पेश किए गए वर्ष 2022-2023 के बजट में राज्य के सभी वर्गों के कल्याण के लिए की गयी विभिन्न जनकल्याणकारी घोषणाओं का स्वागत करते हुए इस बजट को सर्वसमावेशी चंहुमुखी विकास पर आधारित भविष्योन्मुखी व अभिनंदनीय बजट बताया है। अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की राशि 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये, बिजली बिलों पर अनुदान, 1 जनवरी 2004 के बाद वाले सरकारी कर्मचारियों को पूर्वानुसार पेंशन योजना, 1 लाख युवाओं के रोजगार की घोषणा सहित महिलाओं, किसानों, शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग आदि विभिन्न क्षेत्रों के लिए की गयी घोषणाओं से प्रत्येक वर्ग को राहत मिलेगी। शैलेन्द्र अग्रवाल ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा बजट में अजमेर जिले को दी गयी विभिन्न सौगातों के लिए भी मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि विपक्षी दलों के नेता व उनके समर्थक सिर्फ विरोध दर्ज कराने के लिए बजट की निंदा कर रहे हैं जबकि हकीकत में मुख्यमंत्री जी ने बेहतरीन बजट घोषणाओं से सभी को निरुत्तर कर दिया है। *अजमेर को मिली बजट से बड़ी सौगातें* *जनाना अस्पताल, अजमेर में गर्ल्स हॉस्टल का निर्माण करवाया जाएगा। *आगामी वर्ष जयपुर, जोधपुर, अजमेर एवं कोटा में 250 करोड़ रुपए की लागत से नए मेडीकल संस्थान स्थापित करने का कार्य हाथ में लिया जाएगा। जेएलएन चिकित्सालय में पेडियाट्रीक्स एवं नियोनेटोलोजी संस्थान स्थापित होगा। *मेडिकल कॉलेज जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, अजमेर, उदयपुर, कोटा एवं भरतपुर में सभी 7 सुपर स्पेशियलिटी यथा-एण्डोक्रायनोलॉजी, गेस्ट्रोएन्ट्रोलोजी, गेस्ट्रोसर्जरी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, ऑन्कोसर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी व कार्डियोलॉजी की सुविधायें उपलब्ध करायी जाना सुनिश्चित किया जाएगा। *श्रीनगर-अजमेर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में क्रमोन्नत किया जाएगा। *शाहजहांपुर से अजमेर एनएच-48 व एनएच-448 तक के भाग को पायलट प्रोजेक्ट के तहत दुर्घटना रहित सड़क के रूप में विकसित किया जाएगा। *प्रदेश में बालिकाओं को उच्च शिक्षा की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की दृष्टि से प्रदेश के 19 जिलों में 36 कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा की गई। इनमें अजमेर जिले के ब्यावर, किशनगढ़, नसीराबाद में कन्या महाविद्यालय खोले जाएंगे। *राजकीय महिला महाविद्यालय सरवाड़-अजमेर को पीजी महाविद्यालय में क्रमोन्नत किया जाएगा। *अरांई-किशनगढ़ में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) खोले जाएंगे। *अजमेर बड़ली (भिनाय) में औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किए जाने की घोषणा की गई। *बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सावित्री बाई फूले बालिका छात्रावास खोले जायेंगे। आगामी वर्ष में इसके अंतर्गत नागोला (भिनाय) में छात्रावास खोला जाएगा। *अजमेर में अल्पसंख्यक बालिका छात्रावास का निर्माण करवाया जाएगा। *केकड़ी - बोगला से टांकावास - घटियाली - कुशायता - पीपलाज जिला सीमा (केकड़ी), अजमेर - श्रीनगर - अराई (पुष्कर/नसीराबाद/ किशनगढ़) तथा ब्यावर-रामगढ़-बिजयनगर-गुलाबपुरा सड़क (मसूदा) की क्षतिग्रस्त सड़कों की मेजर रिपेयर एवं उन्नयन कार्य 74 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से करवाए जाने की घोषणा की गई। *पुष्कर में सौन्दर्यीकरण एवं अन्य आधारभूत कार्य करवाये जाएंगे। *वर्ष 2022-23 में जल जीवन मिशन के अंतर्गत ब्यावर-जवाजा पेयजल परियोजना, जिला अजमेर 175 करोड़ 82 लाख रुपए, भिनाय मसूदा वृहद पेयजल परियोजना जिला अजमेर 425 करोड़ रुपए, अराई-किशनगढ़ वृहद पेयजल परियोजना जिला अजमेर 419 करोड़ 72 लाख रुपए तथा नसीराबाद वृहद पेयजल परियोजना जिला अजमेर 163 करोड़ रुपए की लागत से करवाने की घोषणा की गई। *विश्व वानिकी उद्यान (झालाना डूंगरी)-जयपुर की तर्ज पर अजमेर में बॉटनिकल गार्डन स्थापित किया जाएगा। *मसूदा-अजमेर में पुलिस उप अधीक्षक कार्यालय खोला जाएगा। *ब्यावर-अजमेर में अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्टे्रट न्यायालय खोला जाएगा। *प्रदेश में प्रशासनिक इकाइयों के विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण के लिए केकड़ी-अजमेर में मिनी सचिवालय की स्थापना के लिए डीपीआर बनाया जाना प्रस्तावित है। *सावर (केकड़ी)-अजमेर में नवीन उपखण्ड कार्यालय खोला जाना प्रस्तावित हैं। *पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ERCP) प्रदेश के 13 जिलों-झालावाड़, बारां, कोटा, बूंदी, सवाई माधोपुर, करौली, धौलपुर, भरतपुर, दौसा, अलवर, जयपुर, अजमेर एवं टोंक के लिए पेयजल के साथ-साथ सिंचाई की भी अति महत्वपूर्ण परियोजना है। इसी के अंतर्गत आगामी वर्ष नवनेरा-गलवा-बीसलपुर-ईसरदा लिंक, महलपुर बैराज एवं रामगढ़ बैराज के 9 हजार 600 करोड़ रुपये के काम हाथ में लिये जाने प्रस्तावित हैं। इस परियोजना का कार्य समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण रूप से कराने की दृष्टि से पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना निगम (ERCPCorporation) के गठन की घोषणा की गई। *आगामी वर्ष में अजमेर में मिनी फूड पार्क बनाया जाएगा। *कृषि क्षेत्र में अनुसंधान के साथ-साथ प्रशिक्षण एवं क्षमता विकास की आवश्यकता के मद्देनजर केकड़ी-अजमेर में कृषि महाविद्यालय खोला जाएगा। *भिनाय-अजमेर के पशु चिकित्सालय को प्रथम श्रेणी चिकित्सालय में क्रमोन्नत किया जाएगा। पगारा (पीसांगन)-अजमेर में नवीन पशु चिकित्सा उप केन्द्र खोला जाएगा। शैलेन्द्र अग्रवाल ने इन सभी बजट घोषणाओं के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार व्यक्त किया है। अग्रवाल ने कहा कि शीघ्र ही सेवादल के प्रदेशाध्यक्ष हेमसिंह शेखावत के नेतृत्व में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा का अभिनंदन कर बेहतरीन बजट पेश करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया जायेगा।

Comments

Popular posts from this blog

गुलाम दस्तगीर कुरैशी की पुत्री मनतशा कुरैशी ने 10 वीं बोर्ड में 92.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया नाम रोशन

अजमेर उत्तर के दो ब्लॉकों की जम्बो कार्यकारिणी घोषित

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार