राजस्थान बजट को लेकर आम आदमी पार्टी ने की टिप्पणी

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 24-FEB-2022 || अजमेर || हीरालाल नील--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------आम आदमी पार्टी अजमेर जिला अध्यक्ष मीना त्यागी ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि *राज्य का ये बजट चुनाव देखते हुए जनता को लुभावना दिखाया गया है, केन्द्र के बजट की तरह इस बजट को भी केवल खोखले व ना पूरे करने वाले वादों को दिखाकर जनता (मतदाता) को भ्रमित किया जाने वाला ही कहा जाएगा क्योंकि पूर्व में राजस्थान सरकार द्वारा जो बजट दिए गए या चुनाव से समय की गई घोषणाओं को भी अभी तक पूरा नहीं किया गया तो इसे पूरा करने की उम्मीद सरकार से सिर्फ एक भ्रम मात्र ही है। **2018 में सरकार निर्माण से अब तक सरचार्ज 3 रूपये पहले ही बढा दिया अब 2 से 3 रूपये की जो सब्सिडी है वो पहले तीन वर्ष पैसे बढाकर अब कम कर देने जैसे ही है।* *पिछले बजट में सरकार ने 1200 अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले जाने की घोषणा की थी उसे ही वापस दोहरा दिया, अब कैसे माने के पुराने बजट में जो घोषणा की वो वापस दोहरा कर मुख्यमंत्री उसे पूरा करेंगे। और जो 10000 अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों की भर्ती की घोषणा की है वो प्रक्रिया कब पूरी होगी ये भी विचारणीय है।* **2020 के बजट में घोषित आर्थिक पिछडे वर्ग के गठन की प्रक्रिया भी अभी तक पूर्ण नहीं की गई।* *पिछले बजट में पुलिस चौकियों को क्रमोन्नत कर थाने बना तो दिए लेकिन उन थानों में पुलिस कर्मी हेड काॅन्सटेबल रेंक के ही हैं, तो इस बार घोषित थानों का हाल तो आप समझ ही सकते हैं।* **50 यूनिट बिजली फ्री देने का जो वादा है वो दिल्ली सरकार से प्रेरित तो है किन्तु दिल्ली सरकार के 200 यूनिट के कहीं भी समकक्ष नहीं है। अतः ये लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से कम और आगामी चुनाव को देखते हुए लुभावना ज्यादा प्रतीत होता है।

Comments

Popular posts from this blog

क़ुरैश कॉन्फ्रेंस रजिस्टर्ड क़ुरैश समाज भारत की अखिल भारतीय संस्था द्वारा जोधपुर में अतिरिक्त जिला कलेक्टर दीप्ति शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर सूरसागर में आये दिन होने वाले सम्प्रदायिक दंगों से हमेशा के लिये राहत दिलाने की मांग की गई है।

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न