आबादी भूमि के खसरा नंबर को नगर निगम के नाम हस्तांतरित करने की मांग

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 21-SEP-2021 || अजमेर || रिपोर्ट हीरालाल नील-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------नगर निगम अजमेर के मनोनीत पार्षद मनवर खान कायमखानी, पूर्व पार्षद शैलेन्द्र अग्रवाल, श्री वीर तेजाजी सर्वधर्म विकास समिति के अध्यक्ष पूनमचंद बबेरवाल, उपाध्यक्ष गोरधनसिंह रावत आदि ने आज जिला कलक्टर अजमेर श्री प्रकाश राजपुरोहित को मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन देकर अजमेर शहर के कोटड़ा व नौसर क्षेत्र के वार्ड 1, 2 व 3 में मेघवंशी मौहल्ला, बेरवा बस्ती, रावत बस्ती, बंजारा बस्ती, सरपंच का बाड़िया, कोटड़ा, नौसर बस्ती को आबादी भूमि के खसरा नंबर को नगरनिगम के नाम हस्तांतरित करने की मांग की है। मुख्यमंत्री जी को भेजे ज्ञापन में बताया गया है कि अजमेर शहर के कोटड़ा व नौसर क्षेत्र के वार्ड संख्या 1, 2 व 3 के खसरा नंबर जो की राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार पुरानी आबादी भूमि है वह मेघवंशी मौहल्ला, तेजाजी चोक, कोटड़ा रावत बस्ती, बंजारा बस्ती, बैरवा बस्ती व सरपंच का बाड़िया कोटड़ा व नौसर बस्ती की आबादी भूमि जो 1977 से पहले ग्राम पंचायत चौरसियावास (पंचायत समिति श्रीनगर) के अधीन थी उसके बाद इस ग्राम पंचायत चौरसियावास का क्षेत्र तत्कालीन नगर परिषद अजमेर में विलय कर लिया गया था तब इस आबादी के खसरा नम्बरों को नगर परिषद (मौजूदा नगरनिगम) के नाम नही कर नगर सुधार न्यास (A D A) के नाम हस्तांतरित कर दिया गया था जो आज भी आबादी भूमि के खसरा नम्बर नगर सुधार न्यास (मौजूदा ए डी ए) के नाम पर दर्ज है जिसके कारण प्रशासन शहरों के संग अभियान के अंतर्गत स्टेट ग्रांट 1961 के तहत अभी तक एक भी पट्टा जारी नही किया गया। ज्ञापन पत्र में मुख्यमंत्री महोदय से मांग की गयी है कि वार्ड स. 1, 2 व 3 की सभी पुरानी आबादी आबादी भूमि में निवास कर रहे परिवारों को स्टेट ग्रान्ट एक्ट 1961 के तहत पट्टे जारी करने के आदेश प्रदान करें।

Comments

Popular posts from this blog

क़ुरैश कॉन्फ्रेंस रजिस्टर्ड क़ुरैश समाज भारत की अखिल भारतीय संस्था द्वारा जोधपुर में अतिरिक्त जिला कलेक्टर दीप्ति शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर सूरसागर में आये दिन होने वाले सम्प्रदायिक दंगों से हमेशा के लिये राहत दिलाने की मांग की गई है।

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न