परम पूज्य ऋषिवर श्री किरीट भाई जी के प्राकट्य दिवस की वर्षगाँठ पर तुलसी सेवा संस्थान द्वारा गौशाला व अपनाघर में किये गए सेवाकार्य

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 21-JULY-2021 || अजमेर || रिपोर्ट हीरालाल नील------------------------------------------------------------------------------------------------------------------प्रसिद्ध कथावाचक परमपूज्य ऋषिवर गुरुदेव श्री किरीट भाई जी के प्राकट्य दिवस की वर्षगाँठ के अवसर पर 21 जुलाई बुधवार को श्री तुलसी सेवा संस्थान अजमेर द्वारा श्री सीता गौशाला, आशागंज अजमेर में गौमाताओं को 100 किलो गुड़ व दलिये की लापसी व एक टेम्पु हरा चारा रिजका अर्पित कर श्री किरीट भाई जी का जन्मदिवस सेवादिवस के रूप में मनाया। श्री तुलसी सेवा संस्थान की और से ही अपना घर आश्रम, लोहागल रोड़ में रहने वाले असहाय व वृद्धजनों को दोपहर का भोजन भी ग्रहण कराया गया। श्री तुलसी सेवा संस्थान के संयोजक किशनचंद बंसल ने बताया कि गौशाला व अपना घर में गुरुदेव श्री किरीट भाई जी के प्राकट्य दिवस पर किये गए सेवाकार्यों से संस्था के पदाधिकारियों व सदस्यों को अभूतपूर्व आनंद की अनुभूति प्राप्त हुई। सेवाकार्य करने वाले संस्था पदाधिकारियों में संयोजक किशनचंद बंसल, सचिव डॉ विष्णु चौधरी, कोषाध्यक्ष कैलाशचन्द खण्डेलवाल, अशोक टांक, कृष्णकांत शाह, द्वारकाप्रसाद मंगल, सरला धाबाई, शशि चौधरी, मनोज सिंहल, प्रह्लाद गुप्ता आदि सदस्य शामिल थे। उल्लेखनीय है कि अग्रवाल समाज अजमेर व श्री सीता गौशाला द्वारा लगभग 15 माह से भी अधिक समय से गौशाला व कबूतरशाला में चलाए जा रहे सेवाकार्य के अंतर्गत निरंतर रूप से प्रतिदिन कम से कम एक टेम्पू हरा चारा रिजका, गुड़, लापसी, कुट्टी बाटा, सब्जियां, कबूतरशाला में मक्की व ज्वारदाना आदि सेवाकार्य समाजबंधुओं, गौभक्तो व धर्मप्रेमी बन्धुओं द्वारा अपने परिवार में खुशी के अवसर पर या अपने प्रियजनों की स्मृति में किये जाते हैं। अग्रवाल समाज अजमेर के अध्यक्ष शैलेन्द्र अग्रवाल व महासचिव प्रवीण अग्रवाल तथा सीता गौशाला कमेटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश मंगल, उपाध्यक्ष गिरधारीलाल मंगल व सचिव सुरेश मंगल ने सभी धर्मपरायण महनुभवाओं व गौभक्तों द्वारा नियमित रूप से किये जा रहे सेवाकार्यों में सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया है

Comments

Popular posts from this blog

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार

अग्रसेन जयंती महोत्सव के अंतर्गत जयंती समारोह के तीसरे दिन बारह अक्टूबर को महिला सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न

पूज्य सिंधी पंचायत और भारतीय सिंधु सभा के संयुक्त तत्वाधान में बाल संस्कार शिविर का आयोजन