समाज के लिए अनूठी मिसाल बेटीयों को मिला समान अधिकार

||PAYAM E RAJASTHAN NEWS|| 08-DEC-2019
|| अजमेर || पिता की मौत के बाद घर की जिम्मेदारी  संभालने की सामाजिक रस्म के तहत बड़े बेटे को बांधने वाली पगड़ी दस्तूर में साहसिक कदम उठाते हुए बड़ी बेटी के पगड़ी बांध कर समाज को नया संदेश दिया कि बेटा या बेटी में कोई फर्क नही है । बेटियां भी जिम्मेदारी संभाल सकती है । प्राप्त जानकारी के अनुसार कैलाशपुरी निवासी आनंद गौड़ का पिछले दिनो निधन हो गया । उनके दो बेटियां थी । आज समाज की परंपरानुसार पगड़ी का दस्तूर था । बड़ी बेटी अनुष्का गौड़ ने पगड़ी बंधवाने की मंशा जाहिर की । उसकी बात से सकते में आये परिजनो के सामने विकट स्थिति हो गई एक तरफ समाज की परंपरा  का ख्याल । लेकिन समाज के लोगो एवम उपस्थित जनो ने एक नई मिसाल कायम करते हुए बड़ी बेटी के पगड़ी बांध कर बेटीयो को मान सम्मान दिया । इस साहसिक कदम की सभी ने सराहना कई
 ।।।।। ।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।


Comments

Popular posts from this blog

गुलाम दस्तगीर कुरैशी की पुत्री मनतशा कुरैशी ने 10 वीं बोर्ड में 92.8 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया नाम रोशन

अजमेर उत्तर के दो ब्लॉकों की जम्बो कार्यकारिणी घोषित

विवादों के चलते हों रही अनमोल धरोहर खुर्द बुर्द व रिश्ते तार तार